उत्तराखंड विकलांग पेंशन योजना के लिए आवेदन करे

उत्तराखंड राज्य के विकलांग व्यक्तिओ के लिए खुश खबरी है। उत्तराखंड सरकार ने राज्य में विकलांग को सहायता प्रदान करने के लिए विकलांग पेंशन योजना की शुरुआत की गई है ,इस योजना में आवेदक करने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन फॉर्म भर सकते है इसके लिए सरकार ने इस पोर्टल www.ssp.uk.gov.in को जारी किया है इस पोर्टल पर ऑनलाइन और ऑफलाइन फॉर्म जारी किया गया है इस योजना से उनका भरण पोषण होगा।
इस योजना का उदेश्ये यह की उत्तराखंड के विकलांग व्यक्तिओ को सामाजिक सुरक्षा के अंतर्गत जीवन यापन में सुधर लाना ,भरण पोषण के लिए विकलांग पेंशन योजना शुरू की गई है। इस योजना के अंतर्गत वो ही व्यक्ति विगलंग माना जायेगा जो 40 प्रतिशत विकलांगता होनी जरुरी है।

उत्तराखंड विकलांग योजना योजना से मिलने वाले लाभ :-

इस विकलांग योजना से विकलांग व्यक्तिओ को किसी पर निर्भर नहीं होना होगा इस योजना में लाभार्थीओ के पास स्वास्थ्य मंत्री दूर विकलांग प्रमाण पत्र होना जरुरी है। इस योजना से उनका जीवन यापन का स्तर उप्पर उठेगा इस योजना से विकलांगो को 1000 रूपए प्रतिमाह दिए जायेंगे।

योजना से जुड़े पात्र :-

  • आवेदक को उत्तराखंड का निवसी होना चाहिए।
  • आवेदक के पास 40 प्रतिशत या उससे अधिक स्वस्थ केंद्र द्वारा प्राप्त प्रमाण पत्र।
  • विकलांग व्यक्ति के परिवार की परिवार का आय 48000 हजार होनी चहिये।
  • इस योजन में लाभार्थी व्यक्ति पहले किसी योजना का पात्र नहीं होना चाहिए ।
  • इस योजना में व्यक्ति सरकारी क्षेत्र में काम कर रहे है वो इस योजना का पत्र नहीं होंगे

विकलांग पेंशन योजना से जुड़े जरुरी दस्तावेज :-

  • आवेदक के पास उत्तराखंड का निवासी प्रमाण पत्र होना चाहिए ।
  • लाभार्थी के पास बैंक में अकाउंट होना चाहिए ।
  • लाभार्थी का स्वस्थ्य केंद्र द्वारा विकलांग प्रमाण पत्र होना चाहिए ।
  • इस योजना के अंतर्गत 20 वर्ष से अधिक आयु का होनी चाहिए है,

विकलांग पेंशन योजना के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन :-

  1. आवेदन के लिए अधिकारी वेबसीटे http://www.ssp.uk.gov.in/ पर जाये।
  2. इसके आवेदक के सामने एक फॉर्म खुलेगा इस फॉर्म को अध्यन से भरे ।
  3. अत फॉर्म को सबमिट बटन पर क्लिक करे ।

इस योजना में ऑफलाइन फॉर्म भरने के लिए आवेदकों को वेबसीटे http://socialwelfare.uk.gov.in/files/c-Handicapped. से आवेदक पत्र डाउनलोड कर सकते है  और इसे पंचायत समीति तहसील कार्यालय और जिला कार्यालयों मेंजमा करा सकते है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *